आंतरिक प्रवेश नीति

आंतरिक प्रवेश नीति

आंतरिक प्रवेश नीति

1. परिचय

उक्त दस्तावेज़ में भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर (भा.प्र.सं. नागपुर) के पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन मैनेजमेंट (पीजीपी) 2020-22 के लिए चयन किए जाने सहित प्रवेश प्रक्रिया के बारे में बताया गया है।

2.सीटों की संख्या और आरक्षण
पीजीपी 2020-22 के बैच में 225 विद्यार्थी होंगे। श्रेणी वार वर्गीकरण और उपलब्ध सीटों की संख्या नीचे तालिका 1 में दर्शाई गयी है।

तालिका 1: उपलब्ध सीटों की संख्या और उनका श्रेणी वार आरक्षण

श्रेणी आरक्षण (%) श्रेणी वार सीटें
समान्य 90
आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 10 23
विशेष श्रेणी – अन्य पिछड़ी जातियाँ 27 61
अनुसूचित जाति 15 34
अनुसूचित जनजाति 7.5 17
डीएपी (नि:शक्त जन)
(श्रेणियों के बीच क्षैतिज आरक्षण)
5 12
कुल सीटें 225

1प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने से पहले दाखिलों की संख्या संशोधित की जा सकती है। ऐसी स्थिति में संशोधित दाखिलों के आधार पर उचित परिवर्तन किए जाएंगे।

आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों हेतु आरक्षण

भा.प्र.सं. नागपुर द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के उम्मीदवारों (ईडब्लुएस) के लिए आरक्षण और ईडब्लुएस के लिए आरक्षण की पात्रता भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार निम्नानुसार लागू की जाती है:

क) जो व्यक्ति अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ी जातियों में नहीं आते हैं तथा जिनके परिवार की वार्षिक आय 8,00,000 लाख रु. (आठ लाख रु. मात्र) से कम है, आरक्षण के लाभ के लिए उनकी पहचान ईडब्लूएस के रूप में की जाती है। आय में सभी स्रोतों से प्राप्त तथा; आवेदन करने के वर्ष से पिछले वित्तीय वर्ष की वेतन, कृषि, कारोबार, व्यवसाय इत्यादि से प्राप्त आय सम्मिलित की जाएगी। साथ ही, ऐसे व्यक्ति जिनके परिवार के पास निम्नलिखित संपत्ति हैं, उनकी पहचान पारिवारिक आय के बावजूद, ईडब्लूएस के रूप में नहीं की जाएगी:

  • 5 एकड़ या उससे अधिक कृषि भूमि
  • 1000 वर्ग फीट या उससे अधिक का आवासीय फ्लैट
  • अधिसूचित नगरपालिका क्षेत्र में 100 वर्ग गज या उससे अधिक का आवासीय प्लॉट
  • अधिसूचित नगरपालिका क्षेत्र से इतर क्षेत्रों में 200 वर्ग गज या उससे अधिक का आवासीय प्लॉट

ख) ईडब्लूएस स्तर का निर्धारण करते समय विभिन्न स्थानो/शहरों में परिवार की संपदा को भी गिना जाएगा।

ग) इस प्रयोजन के लिए ‘परिवार’ में आरक्षण के इच्छुक व्यक्ति के माता पिता और 18 वर्ष से कम के भाई बहन, साथ ही उसके पति/पत्नी और 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे भी गिने जाएंगे।

Please click here for details

3. प्रवेश प्रक्रिया

वर्ष 2020-22 के बैच के लिए भा.प्र.सं. नागपुर की प्रवेश प्रक्रिया तीन चरणों में की जाएगी, इसमें उम्मीदवार के सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीएटी) 2019, में प्रदर्शन, शिक्षा के क्षेत्र में पिछला प्रदर्शन (पीएपी), कार्य अनुभव (डब्लूई), विविधता (डीआई) और व्यक्तिगत साक्षात्कार में उसके प्रदर्शन (पीआई) और लिखित योग्यता परीक्षा (डब्लूएटी) में प्रदर्शन को भी देखा जाएगा। इसका ब्योरा निम्नलिखित खंडों में दिया गया है।

3.1 प्रक्रिया के स्तर

  • स्तर 1: जिन उम्मीदवारों ने सीएटी आवेदन पत्र भरते समय भा.प्र.सं. नागपुर के लिए अपनी रुचि निर्दिष्ट की थी, उन्हें प्रक्रिया के स्तर 1 में निर्दिष्ट सीएटी के कट ऑफ अंकों के आधार पर पात्रता के लिए पहले चुना जाएगा। सीएटी के कट ऑफ अंक प्राप्त करने के बाद उनसे दोबारा आईआईएम में उनकी रुचि के बारे में पुष्टि की जाएगी।
  • स्तर 2: जिन उम्मीदवारों ने सीएटी के कट ऑफ अंक प्राप्त कर लिए हैं और भा.प्र.सं. नागपुर के लिए अपनी रुचि दर्शाई है, उन्हें स्तर 2 में ले जाया जाएगा, जहां उनके समग्र अंकों (सीएस) का आकलन किया जाएगा। उनके सीएस के आधार पर उन्हें स्तर 3 व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) और लिखित योग्यता परीक्षा (डब्लूएटी) के लिए बुलाया जाएगा। पीआई/ डब्लूएटी के आधार पर सूचीबद्ध उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए उपस्थित होने से पहले एक विस्तृत आवेदन पत्र भरना होगा।
  • स्तर 3: इस स्तर के लिए उन्हीं उम्मीदवारों के संबंध में विचार किया जाएगा जो पीआई/ डब्लूएटी के लिए उपस्थित हुए थे, यहाँ अंतिम अंकों की गणना की जाएगी। उम्मीदवारों को उनके अंतिम अंकों की गणना के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा।

स्तर 1: पीजीपी 2020-22 में प्रवेश हेतु पात्रता मानदंड

तालिका 2 में दर्शाए गए सीएटी के अंकों के कट ऑफ बाद के सभी स्तरों के लिए पत्र उम्मीदवारों के चयन लिए प्रयोग किए जाएंगे। पहली सूची में आने के लिए सीएटी 2019 में प्राप्त अंक ही एकमात्र मानदंड होगा। प्रवेश प्रक्रिया के लिए केवल उन्हीं उम्मीदवारों के संबंध में विचार किया जाएगा, जिनहोने सीएटी के सभी खंडों में सकारात्मक अंक (>0)प्राप्त किए हों।

तालिका 2: सीएटी 2019 में न्यूनतम प्रतिशतक

श्रेणी उपलब्ध सीटें खंड वार और समग्र रूप से सूचीबद्ध किए जाने हेतु सीएटी 2018 का न्यूनतम प्रतिशतक
श्रेणी उपलब्ध सीटें खंड 1 (वीएआरसी) खंड 2 (डीआईएलआर) खंड 3 (क्यूए) समग्र
समान्य 90 72 72 72 85
आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग 23 72 72 72 85
विशेष श्रेणी – अन्य पिछड़ी जातियाँ 61 65 65 65 76.5
अनुसूचित जाति 34 50 50 50 60
अनुसूचित जनजाति 17 40 40 40 40
डीएपी (नि:शक्त जन)
(श्रेणियों के बीच क्षैतिज आरक्षण)
12 40 40 40 55

नोट:
1. वीएआरसी = मौखिक योग्यता और पढ़ने की क्षमता, डीआईएलआर = आंकड़ों की समझ और तार्किक सूझबूझ, क्यूए = मात्रात्मक योग्यता।
2. ये कट ऑफ अंक केवल स्तर 1 की सूची तैयार करने के लिए हैं, न कि अंतिम प्रवेश ऑफर के लिए। उसके लिए अंक काफी अधिक हो सकते हैं।

स्तर 2: पीआई / डब्ल्यू ए टी प्रक्रिया के लिए उम्मीदवारों का चयन

जिन विद्यार्थियों ने सीएटी – 2019 के लिए पंजीकरण करने के समय भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर में पीजीपी के लिए आवेदन किया था और जो ऊपर दी गई तालिका में दर्शाए गए कट ऑफ को पूरा करते हैं, उन्हें मार्च 2020 के तीसरे / चौथे सप्ताह के लगभग भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर से ई मेल/ सूचना प्राप्त होगी। जो विद्यार्थी भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर में प्रवेश के लिए आगे अपनी उम्मीदवारी रखना चाहते हैं, उन्हें नियत तारीख तक इसकी पुष्टि दोबारा करनी चाहिए।

प्रवेश प्रक्रिया के दूसरे चरण के लिए केवल उन्हीं उम्मीदवारों के संबंध में विचार किया जाएगा जो न्यूनतम सीएटी 2019 प्रतिशतक पूरा करते हों तथा जिन्होने भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर में पीजीपी 2020 में प्रवेश के लिए नियत तारीख तक पुन: पुष्टि की है। इन उम्मीदवारों के मूल्यांकन हेतु निम्नलिखित पहलुओं पर विचार किया जाएगा।

क) सीएटी स्कोर (सीएटी)
प्रत्येक उम्मीदवार के लिए सीएटी स्कोर की गणना उम्मीदवार द्वारा प्राप्त कुल सीएटी स्कोर के अनुपात तथा 0-10 के बीच की जाएगी। इसकी गणना निम्नानुसार की जाएगी:

सीएटी स्कोर = (उम्मेदवार के कुल सीएटी स्कोर/ अधिकतम कुल सीएटी स्कोर2) *10

यह स्तर I के मानदंड के अनुसार भारतीय प्रबंध संस्थान की प्रवेश प्रक्रिया के लिए पात्र उम्मेदवारों के बीच अधिकतम सीएटी स्कोर है।>

ख) पिछला शैक्षिक निष्पादन (पीएपी)
यहाँ हम आवेदक का 10वीं कक्षा की परीक्षा, 12वीं कक्षा की परीक्षा और स्नातक डिग्री की परीक्षा में शैक्षिक निष्पादन (प्राप्त अंक) का मूल्यांकन करते हैं। ऊपर पहचान किए गए पात्र आवेदक उनकी 10वीं, 12वीं और स्नातक डिग्री परीक्षा में प्राप्त अंकों की प्रतिशतता के आधार पर क्रमश: ‘क’‘ख’‘ग’ (तालिका 3.1-3.3) देखें।

तालिका 3.1 पिछला शैक्षिक निष्पादन (पीएपी)- 10वीं का रेटिंग स्कोर

10 वीं कक्षा में प्राप्त रेटिंग स्कोर ‘क’
<=55 1
>55 and <=60 3
>60 and <=70 4
>70 and <=80 5
>80 and <=90 9
>90 10

तालिका 3.2 पिछला शैक्षिक निष्पादन (पीएपी)- 12वीं का रेटिंग स्कोर

12 वीं कक्षा में प्राप्त प्रतिशत अंक रेटिंग स्कोर ‘ख’
<=55 1
>55 and <=60 3
>60 and <=70 4
>70 and <=80 5
>80 and <=90 9
>90 10

तालिका 3.3 पिछला शैक्षिक निष्पादन (पीएपी)- स्नातक का रेटिंग स्कोर

स्नातक डिग्री में प्राप्त प्रतिशत अंक रेटिंग स्कोर ‘ग’
<=55 2
>55 and <=60 4
>60 and <=65 6
>65 and <=70 9
>70 10

This is the maximum CAT score among the candidates who were eligible for admission process in IIMN as per the stage 1 criteria.
PAP Score for the candidate will be calculated as follows:

PAP = (0.25*A+0.35*B+0.40*C)

ग) कार्य अनुभव (डब्लू ई)
विभिन्न संगठनों में (31 जुलाई 2019) तक कार्य किए गए कुल महीनों की संख्या को तालिका 4 के अनुसार डब्लू ई के स्कोर के रूप में गिना जाएगा। उदाहरण के लिए, यदि किसी उम्मीदवार के पास 13 माह और 25 दिन के कार्य का अनुभव है तो उसका अनुभव 13 माह का गिना जाएगा। समानान्तर कार्य अनुभव को मान्यता नहीं दी जाएगी। स्नातक होने के बाद केवल पूर्ण कालिक कार्य का अनुभव ही गिना जाएगा। अंशकालिक / प्रोजेक्ट / इनटरन्शिप / सीए आर्टिक्लशिप / स्नातक होने से पहले का कार्य अनुभव के रूप में नहीं गिना जाएगा। विभिन्न संगठनों में किए गए सभी कामों की अवधि को मिला कर कार्य अनुभव माना जाएगा।

तालिका 4: कार्य अनुभव (डब्लू ई): रेटिंग स्कोर

कार्य अनुभव (माह) रेटिंग स्कोर
x<6 0
6<=x<18 4
18<=x<24 6
24<=x<30 8
30<=x<36 10
x>=36 4

घ) विविधता (डीआई)
दस में से विविधता स्कोर (डीआई) की गणना उम्मीदवार के लिंग और स्नातक की डिग्री के आधार की जाएगी। उम्मीदवार को 5 अंकों के लिंग भेद स्कोर उन के लिंग के आधार पर (पुरुषों को 0, महिलाओं को 5 और परा- लिंग उम्मीदवारों को 5) दिए जाएंगे तथा 5 अंक निम्नलिखित में से किसी एक विषय में स्नातक की डिग्री के लिए दिए जाएंगे: बीए, बीए(एच), बीएससी, बीएससी (एच), बीएस, बी कॉम, बीकॉम (एच), बीसीए, बीबीए, बीफार्मा, एलएलबी, एम बीबीएस, बीडीएस तथा इंजीनियरिंग से इतर अन्य कोई विषय जो यहाँ शामिल नहीं किए गए हैं।

इस स्तर पर सीएटी, पीएपी, डब्लूई, और डीआई के आधार पर सम्मिलित स्कोर (सीआई) की गणना निम्नानुसार की जाएगी:

सीएस=0.30* (सीएटी स्कोर) +0.35*(पीएपी स्कोर) +0.29*(डब्लूई स्कोर) +0.15*(डीआई स्कोर)

सम्मिलित स्कोर (सीएस) के आधार पर एक सूची तैयार की जाएगी और सूचीबद्ध उम्मीदवारों को अप्रैल 2020 के पहले/दूसरे सप्ताह में भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर से ई मेल / सूचना भेजी जाएगी। सूचीबद्ध उम्मीदवारों को एक विस्तृत आवेदन प्रस्तुत करना होगा जिसके साथ 10वीं, 12वीं और स्नातक परीक्षा की सेमिस्टर वार / वर्ष वार अंक सूचियों की पतिलिपि, कार्य अनुभव के प्रमाणपत्र की प्रतिलिपि (यदि लागू हो), विकलांगता प्रमाणपत्र ( यदि लागू हो), अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति/ अन्य पिछड़ी श्रेणी –गैर ऊपरी सतह प्रमाण पत्र, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (यदि लागू हो), की प्रतिलिपियाँ प्रस्तुत करनी होंगी। जो उम्मीदवार नियत तारीख (अप्रैल 2020 के दूसरे / तीसरे सप्ताह के लगभग) तक पूरी तरह भरा हुआ आवेदन पात्र प्रस्तुत करेंगे, केवल उन्हीं के संबंध में अगली प्रवेश प्रक्रिया के बारे में विचार किया जाएगा।

स्तर 3: उम्मीदवारों का अंतिम चयन

सम्मिलित स्कोर पर आधारित सूचीबद्ध उम्मीदवारों, जिन्हें नियत समय तक आवेदन प्रस्तुत करने हैं, और पीआई / डब्लूएटी प्रक्रिया के लिए आना है, उनके संबंध में प्रवेश प्रक्रिया के अंतिम स्तर हेतु विचार किया जाएगा।

व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) और लिखित योग्यता परीक्षा (डब्लूएटी)
जिन उम्मीदवारों को सूचीबद्ध किया गया है और जिंहोंने आवेदन प्रस्तुत किए हैं,उन्हें भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर द्वारा आयोजित व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) / लिखित योग्यता परीक्षा (डब्लूएटी) के लिए उपस्थित होना होगा। साक्षात्कार अप्रैल / मई 2020 में किए जाएंगे। इस स्तर पर आने वाले सभी उम्मीदवारों के लिए पीआई और डब्लूएटी का स्कोर 0 और 10 के बीच होगा।

पीआई और डब्लूएटी पूरा होने के बाद उम्मीदवार के अंतिम स्कोर निम्नानुसार गिने जाएंगे:

एफएस=0.40* (पीआई स्कोर) +0.10*(डब्लूएटी स्कोर) +0.15*(सीएटी स्कोर) +0.15*(पीएपी स्कोर)+ 0.20 * (डब्लूई स्कोर)

इस स्तर पर चयन के लिए उम्मीदवारों के अंतिम स्कोर (एफएस) की गणना प्रत्येक श्रेणी (सामान्य / ईडब्लूएस / एनसी- ओबीसी / एससी/ एसटी / डीएपी) के लिए अलग रैंक पर आधारित होगी। विभिन्न श्रेणियों में चयनित उम्मीदवारों की संख्या कानून में दिए गए अनुपात के अनुसार होगी।

4. प्रस्ताव और प्रवेश

चयनित उम्मीदवार ई-मेल से अंतिम प्रवेश ऑफर प्राप्त करेंगे। ऑफर स्वीकार करने की पुष्टि के लिए उम्मीदवार को 50,000/- रु. का स्वीकार्य शुल्क जमा कराना होगा जिसका समायोजन बाद में सत्र I के शुल्क में कर लिया जाएगा।

5. वापसी और निरसन प्रक्रिया

प्रवेश ऑफर की वापसी / निरसन निम्नानुसार कई प्रकार से हो सकता है:

क) पहले सत्र के पंजीकरण से पहले

  • एक बार विहित तारीख (ऑफर ई मेल में निर्दिष्ट) तक पुष्टि प्राप्त होने पर अनंतिम प्रवेश ऑफर वैध रहेगा। नियत तारीख तक भुगतान प्राप्त न होने पर अनंतिम प्रवेश निरस्त हो जाएगा।
  • यदि कोई उम्मीदवार पुष्टि शुल्क के भुगतान के बाद वापसी चाहता है तो उसे प्रवेश कार्यालय को एक ई मेल भेजना होगा। उसके बाद हम पैसा वापस करने की प्रक्रिया शुरू करेंगे। जमा किए गए पुष्टि शुल्क की वापसी (1000/- रु के प्रशासनिक प्रभार अथवा भारत सरकार के लागू नियमों के अनुसार कटौती करके) जुलाई 2020 में की जाएगी।
  • यदि कोई उम्मीदवार निर्दिष्ट तारीख और समय पर भा.प्र.सं. नागपुर में पंजीकरण नहीं करता है तो उसका प्रवेश निरस्त कर दिया जाएगा।
  • यदि कोई उम्मीदवार पुष्टि शुल्क का भुगतान कर देता है लेकिन नियत तारीख तक उसे वापस लेने में असमर्थ रहता है या कार्यक्रम के लिए पंजीकरण नहीं करता है तो उसका शुल्क जब्त कर लिया जाएगा।

ख) पंजीकरण के बाद :

  • शुल्क प्रत्येक सत्र से पहले लिया जाएगा। यदि कोई उम्मीदवार कार्यक्रम से वापस (सत्र के बीच में) जाना चाहता है तो उस का शुल्क जब्त कर लिया जाएगा, चाहे उस सत्र के कितने भी दिन बचे हों तथा उसका प्रवेश निरस्त हो जाएगा।

ग) किसी उम्मीदवार द्वारा प्रवेश प्रक्रिया के दौरान किसी भी चरण में कोई गलत सूचना दिए जाने पर उसका प्रवेश निरस्त हो जाएगा। उस समय तक भुगतान किए गए शुल्क की वापसी के किसी भी दावे पर कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी।