इन्फेड के बारे में

इन्फेड के बारे में
/इन्फेड/इन्फेड/इन्फेड के बारे में

इन्फेड के बारे में

इन्फेड (भा.प्र.सं. नागपुर उद्यमिता विकास फाउंडेशन) इनक्यूबेटर के रूप में काम करता है, और उद्यमशीलता शोध और शिक्षा का एक केंद्र है। उद्यमिता केंद्र के माध्यम से भा.प्र.सं. नागपुर द्वारा अभिभावित इनफेड, उद्यमियों और संबंधित हितधारकों के लिए एक सक्षम पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के लिए भारत और विदेशों में महत्वपूर्ण हितधारकों के साथ काम करता है। इनफेड उद्यमियों, अकादमिक, शोधकर्ताओं, ज्ञान भागीदारों, डोमेन विशेषज्ञों, उद्योगपतियों, उद्यम पूंजीपतियों और सरकार के बीच एक पुल के रूप में काम करता है।
इन्फेड के व्यापक उद्देश्य हैं:

  • इच्छुक उद्यमियों का मार्गदर्शन, और इनक्यूबेशन के माध्यम से उनके निगमन और बाद के संचालन में सहयोग करना।
  • ‘सर्विस’सुविधा के माध्यम से, उद्यमियों को दिन-प्रति-दिन कार्य में प्रयुक्त सभी प्रकार के आवश्यक तकनीकी-व्यापार समर्थन प्रदान करना।
  • अनुसंधान और विभिन्न शैक्षणिक कार्यक्रमों के माध्यम से उद्यमी ज्ञान निर्माण और प्रसार करके स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र को सुदृढ़ बनाना और सशक्त बनाना।

वर्तमान में, इन्फेड, तीन व्यापक क्षेत्र के हितधारकों को अनुकूलित कार्यक्रम प्रदान करता है:
(क) इन-हाउस विद्यार्थी जो उद्यमशीलता का चुनाव करते हैं,
(ख) एसएमई, पारिवारिक व्यवसाय
(ग) उभरते उद्यमियों को उद्भवन और / या तकनीकी-व्यापार समर्थन की आवश्यकता होती है। इनफेड उद्यमशीलता की सफलता को सक्षम करने के लिए प्रासंगिक हितधारकों में उद्यमशीलता की सोच विकसित करने के लिए कार्यक्रमों और गतिविधियों का भी आयोजन करता है।

इनफेड के कार्यक्रमों के तीन व्यापक समूह हैं – ऊष्मायन, सेवाएं, एवं शोध और शिक्षा।

हमारे ऊष्मायन कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, हम संभावित उद्यमियों को विचारधारा चरण से लेकर व्यावसायीकरण चरण तक सभी समर्थन प्रदान करना चाहते हैं। महिला स्टार्टअप प्रोग्राम (डब्ल्यूएसपी) 2018 इस दिशा में एक कदम है। निकट भविष्य में, हम डब्लूएसपी से आगे बढ़कर हमारी ऊष्मायन गतिविधियों को बढ़ाने जा रहे हैं।
हमारी सेवाओं के भाग स्वरूप, मौजूदा उद्यमियों और पारिवारिक व्यवसायों की क्षमता निर्माण के लिए हमारे पास विभिन्न अल्पकालिक और दीर्घकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम मौजूद हैं। हम इनफेड में भी मौजूदा विनिमय के साथ-साथ उभरते उद्यमियों और सहायक हितधारकों के लिए विचार विनिमय, पारस्परिक समर्थन, नेटवर्किंग और व्यावसायिक समस्या को हल करने के लिए मंच प्रदान करते हैं।

हमारे शैक्षिक कार्यक्रम बड़े पैमाने पर उद्यमी ज्ञान निर्माण और प्रसार पर ध्यान केंद्रित करते हैं। वर्तमान में, हम भा.प्र.सं. नागपुर के पीजीपी विद्यार्थियों के लिए हमारी उद्यमिता सुविधा गतिविधियों (ईएफए) को मजबूत करने की प्रक्रिया में हैं।

इसके अलावा, हम बौद्धिक रूप से योगदान देने और उद्यमशील पारिस्थितिकी तंत्र को समृद्ध करने के लिए मूल शोध, केस लेखन, परामर्श और शिक्षण को प्रोत्साहित करते हैं।
अल्पकालिक कार्यक्रमों के बारे में और जानने के लिए, साथ ही पारिवारिक व्यवसायों और उद्यमियों के लिए प्रशिक्षण और परामर्श कार्यक्रमों के लिए भी कृपया infed@iimnagpur.ac.in पर संपर्क करें।

उद्यमी अध्ययन और भारत में स्टार्ट-अप ऊष्मायन केंद्र के लिए अग्रणी केंद्र बनने के अपने प्रयासों के एक भाग स्वरूप में, इनफेड ने महिला स्टार्टअप प्रोग्राम (डब्ल्यूएसपी) के तहत 10 महिला उद्यमियों को सहयोग प्रदान किया है। NSRCEL, भा.प्र.सं. बैंगलोर के सहयोग से WSP आयोजित किया जा रहा है। महिला उद्यमी, वर्तमान में भा.प्र.सं. नागपुर द्वारा समर्थित किए जा रहे हैं, जो साहसिक खेल, खगोल विज्ञान शिक्षा, कपड़ा डिजाइन, अनुकूलित पालतू पशु खाद्य पदार्थ, खाद्य खोज और खोज सेवा, वित्त, सफाई और स्वच्छता, और नागर समाज जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। महिला उद्यमियों को रुपये 30,000/- का मासिक अनुदान प्रदान किया जा रहा है, साथ ही नागपुर, मुंबई और पुणे में काम करने की जगह भी। इनफेड भी भविष्य में अपनी आवश्यकताओं के आधार पर महिला उद्यमियों को प्रोटोटाइप अनुदान प्रदान करने का इरादा रखता है।

डब्ल्यूएसपी में चार चरण होते हैं:

चरण 1

संभावित महिला उद्यमियों को ‘डू योर ओन वेंचर’ नामक पाठ्यक्रम में नामांकन के लिए एक खुले विज्ञापन के माध्यम से आमंत्रित किया जाता है। यह ‘बड़े पैमाने पर खुले ऑनलाइन पाठ्यक्रम’ (एमओयूसी) को विशेष रूप से महिला उद्यमियों के लिए मौजूद चुनौतियों का समाधान करने के लिए अनुकूलित किया गया है। पाठ्यक्रम 22 जनवरी 2018 को शुरू हुआ और 3 मार्च 2018 (छह सप्ताह की अवधि) पर समाप्त हुआ।

चरण 2

चरण एक से प्रतिभागियों की एक सीमित संख्या को बूट शिविर में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाता है जो उद्यमी को अपने उद्यम को शुरू करने के लिए आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। 2018 में, भा.प्र.सं. नागपुर परिसर में 2 से 7 अप्रैल तक 30 प्रतिभागियों के लिए एक बूट शिविर आयोजित किया गया था, जहां प्रतिभागियों को फर्म के वैधानिक पहलु और अनुपालन, डिजाइन सोच, स्टार्टअप पारिस्थितिक तंत्र समर्थक, ग्राहक सत्यापन, ब्रांडिंग, और संगठनों के विकास जैसे पहलुओं पर जानकारी दी गई। प्रतिभागियों ने न्यायाधीशों के एक पैनल के समक्ष अपना विचार पेश किया जनमें से 10 महिला उद्यमियों को ऊष्मायन के लिए चुना गया।

चरण 3

इन चयनित महिला उद्यमियों ने 30 अप्रैल 2018 से 10 मई 2018 तक NSRCEL, भा.प्र.सं. बैंगलोर में हमारे साथी संस्थान पर दूसरे बूट शिविर, पूरे भारत के 90 अन्य महिला-उद्यमियों के साथ, में भाग लिया। उन्हें एक उद्यमी नेटवर्क के लिए अनुकूलित प्रशिक्षण, परामर्श और पहुंच प्रदान की गई।

चरण 4

10 महिला उद्यमियों को अब इनफेड द्वारा 12 महीनों के लिए सलाह और उद्भवन सुविधा प्रदान की जा रही है जो जून 2018 से शुरू हुई। उद्भवन के दौरान, भा.प्र.सं. नागपुर के उद्योग विशेषज्ञ, डोमेन विशेषज्ञ और संकाय सदस्य 10 महिला उद्यमियों को मार्गदर्शन देंगे। उनकी प्रगति, साथ ही सलाह की जरूरतों, की समय-समय पर समीक्षा की जा रही है।
इनफाईड इन उद्यमियों को भौतिक और आभासी बुनियादी ढांचा प्रदान कर रहा है। इसके अलावा, मुंबई में 5 इनक्यूबेट्स, पुणे में 2, और नागपुर में 3 इनक्यूबेट के लिए उच्चतम बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। सभी 10 इनक्यूबेट्स को स्टार्ट-अप सफल बनाने के लिए सलाह, कानूनी सलाह, तकनीकी सलाह, वित्तीय सहायता और अन्य सेवाएं प्राप्त हो रही हैं।