अवस्थापना प्रक्रिया

अवस्थापना प्रक्रिया
/कार्यक्रम/एमबीए/प्लेसमेंट्स/अवस्थापना प्रक्रिया
PGP Admissions 2022-24: Seventh list of final admission offers released. Click here for details. | PhD (Ex) 2022-26 Admissions: PhD (Ex) Admissions timeline updated. Click here for details. | IIM Nagpur announces full tuition fee waiver to candidates under its new scholarship policy.

अवस्थापना प्रक्रिया

सीडीएस (करियर विकास सेवाएं)

भा.प्र.सं. नागपुर में कैंपस भर्ती प्रक्रिया विद्यार्थी अवस्थापनना समिति के साथ कैरियर विकास सेवा (सीडीएस) कार्यालय द्वारा संभाली जाती है। अवस्थापना के अलावा, सीडीएस विद्यार्थियों के बेहतरी के लिए विभिन्न उद्योग संबंध कार्यक्रम भी आयोजित करता है। भर्ती प्रक्रिया के लिए संस्थान द्वारा सुविधाएं और आधार संरचना समर्थन प्रदान किया जाता है।

विद्यार्थी आवेदन

भा.प्र.सं. नागपुर आने वाले संगठन प्रक्रिया शुरू होने से कम से कम एक हफ्ते पहले प्रस्ताव पर भूमिकाओं का एक विस्तृत विवरण साझा करते हैं। इस नौकरी के विवरण में संगठनों के दर्शन, अपेक्षाओं औरपेश की जाने वाली प्रोफाइल की स्पष्टता मिलती है। इससे विद्यार्थियों को सूचित निर्णय लेने में मदद मिलती है और अपने हितों और आकांक्षाओं के अनुसार आवेदन कर सकते हैं। इन आवेदनों को तब उपयुक्त माध्यमों के माध्यम से कंपनी के प्रतिनिधियों को भेजा जाता है।

चयन

प्रासंगिक प्रोफाइल के आधार पर कंपनियों से अनुरोध है कि वे आगे की चयन प्रकिया के साथ आगे बढ़ें या कई चरणों में प्रक्रिया का संचालन करें।

प्री-प्लेसमेंट टॉक (पीपीटी) और साक्षात्कार

हम विद्यार्थियों को परिसर में आयोजित अवस्थापना पूर्व चर्चाओं में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करते हैं जो कि आगंतुत लीडरशिप टीम और विद्यार्थियों को आपस में बात करने और अपने संगठन द्वारा पेश की जाने वाली रोजगार भुमिकाओं के अवसरों के बारे में जानकारी के विनिमय का अवसर प्रदान करता है। विद्यार्थी इस अवसर का उपयोग कर संगठन को बेहतर ढंग से समझने और उनके अवसरों के आकलन में करते हैं।

अंतिम चयन प्रक्रिया

इन आवेदनों को तब कंपनी के प्रतिनिधियों को भेजा जाता है और कंपनियों से अनुरोध किया जाता है कि वे चयन सूची के साथ आगे बढ़ें या कई चरणों में प्रक्रिया का संचालन करें। कंपनी के अधिकारियों को भर्ती प्रक्रिया के लिए परिसर में आने के लिए कहा जाता है। भर्ती प्रक्रिया में आम तौर पर केस स्टडी आधारित समूह चर्चा शामिल होती है और व्यक्तिगत साक्षात्कार के कुछ दौर होते हैं लेकिन केवल इस तक ही सीमित नहीं होती है।

अंतिम प्रस्ताव

प्रक्रिया के बाद, कंपनी सीडीएस कार्यालय को औपचारिक प्रस्ताव पत्र भेजकर विद्यार्थियों को नौकरी की पेशकश करती है। प्रस्ताव स्वीकृति संस्थान की नियुक्ति नीति पर आधारित है।