फैकल्टी न्यूज़

फैकल्टी न्यूज़

News

प्रोफेसर किंशुक सौरभ ने सौरभ दीक्षित, सत्या एन. मंडल और जोसेफ वी थानिकल के साथ मिल कर 'इवोल्यूशन ऑफ स्टडीज़ इन कन्स्ट्रक्शन प्रोडक्टिविटी : ए सिस्टमैटिक लिटरेचर रिव्यू (2006 - 2017) शीर्षक से एक जर्नल आलेख का सह-लेखन किया। द अइन शाम्स इंजीनियरिंग जर्नल में प्रकाशित इस...Read More
प्रोफेसर अतुल अरुण पाठक और सरोज कुमार पाणि ने अनिश अग्रवाल के साथ मिल कर 'कैंपसहैश : इवॉल्विंग बिज़नेस मॉडल ऑफ एन एन्टरप्रॉनेरियल वेंचर' पर एक केस का सह-लेखन किया, जो आइवी पब्लिशिंग द्वारा प्रकाशित किया गया। इस मामले में विनिर्दिष्ट रूप से स्टार्ट-अप...Read More
प्रो. राहुल सेठ ने 'इन्फ्लेक्सिबल माइक्रोक्रेडिट कॉन्ट्रैक्ट्स एंड देयर डिस्कन्टेन्ट्स : ए थ्योरिटिकल पर्सपेक्टिव बेस्ड ऑन कंस्यूमर साकोलॉजी' शीर्षक से एक जर्नल आलेख लिखा, जो आईआईएमबी मैनेजमेंट रिव्यू में प्रकाशित हुआ। इस पर्चे में उन तरीकों को रेखांकित किया गया है, जिनमें फ्लेक्सिबल अथवा निवेश- विशिष्ट...Read More
प्रोफेसर कपिल कौशिक ने आईएमटी, गाज़ियाबाद के प्रोफेसेर निकुंज कुमार जैन और आईएमआई नई दिल्ली के प्रोफेसर आलोक कुमार सिंह के साथ मिल कर 'ऑटोमोबाइल रखरखाव और मरम्मत उद्योग में सेवा की गुणवत्ता का मूल्यांकन' शीर्षक से एक जर्नल आलेख का सह-लेखन किया। एशिया पैसेफिक जर्नल ऑफ...Read More
प्रोफेसर अतुल अरुण पाठक ने भारतीय प्रबंध संस्थान अहमदाबाद के प्रो. जॉर्ज कंदाथिल के साथ 'स्ट्रेटेजाइजिंग इन स्मॉल इन्फॉर्मल रिटेलर्स इन इंडिया : होम डिलीवरी एज़ ए स्ट्रैटेजिक प्रैक्टिस' पर एक पर्चे का सहलेखन किया। एशिया पैसेफिक जर्नल ऑफ मैनेजमेंट में प्रकाशित इस पर्चे में किराना दुकानदारों...Read More
प्रोफेसर सरोज कुमार पाणि ने रिषभ भट और गौरव हिम्मतसिंगका के साथ 'द इफेक्ट ऑफ इकॉनोमिक एंड पॉलिटिकल इवेन्ट्स ऑन द मूवमेन्ट ऑफ बीएसई सेन्सेक्स : ए स्टडी ऑफ आउटलायर्स फ्रॉम 1991 टु 2014' पर एक जर्नल आलेख का सहलेखन किया, जो फाइनैंस इंडिया में प्रकाशित हुआ।...Read More
प्रोफेसर अवीना मैन्डोन्का ने 'इंडियन पर्सपेक्टिव ऑन वर्कप्लेस बुलींग' नामक पुस्तक में ' सौंदर्य सेवा कामगारों द्वा गाली-गलौज करने वाले ग्राहकों का सामना करना : बाहरी लोगों की दादागिरी की अवधारणा को आगे बढ़ाना' पर एक अध्याय लिखा है, और साथ ही प्रो. प्रेमिला डि'क्रूज, अर्नेस्टो नोरोन्हा...Read More
प्रोफेसर कपिल कौशिक ने प्रो. निकुंज कुमार जैन और आलोक कुमार सिंह के साथ मिल कर ' एन्टेसेडेन्ट्स एंड आउटकम्स ऑफ इन्फॉर्मेटिव प्राइवेसी कन्सर्न्स : रोल ऑफ सब्जेक्टिव नॉर्म एंड सोशल प्रेजेन्स' शीर्षक से एक जर्नल आलेख का सह-लेखन किया। इलेक्ट्रोनिक कॉमर्स रिसर्च एंड एप्लीकेशन्स में प्रकाशित...Read More
प्रोफेसर प्रकाश अवस्थी ने प्रोफेसर एस के गौडा के साथ मिल कर "व्हाट डज़ ग्रीन क्वालिटी रियली मीन?" शीर्षक से एक लेख का सह-लेखन किया था। यह लेख टीक्यूएम जर्नल में छपा था, जिसमें हरित गुणवत्ता के विभिन्न पहलुओं का प्रस्ताव करते हुए इन पहलुओं के संबंध...Read More