भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर द्वारा इल्यूम 4.0 – उद्योग – अकादमिक जगत संवाद का आयोजन

Illume 4.0-00
/ समाचार/भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर द्वारा इल्यूम 4.0 – उद्योग – अकादमिक जगत संवाद का आयोजन

भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर द्वारा इल्यूम 4.0 – उद्योग – अकादमिक जगत संवाद का आयोजनजनवरी 18, 2020

Illume 4.0-00

भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर ने उद्योग-अकादमिक संवाद – इल्यूम के चौथे संस्करण का सफल आयोजन किया। इस कार्यक्रम में एक नेतृत्व सत्र शामिल था, जिसके बाद ऑटोमोबाइल, वित्त और खेल जैसे विभिन्न उद्योगों के प्रख्यात वक्ताओं द्वारा एक सीईओ सत्र आयोजित किया गया।उद्घाटन के बाद, संस्थान के निदेशक प्रो.एल. एस. मूर्ति ने छात्रों को संबोधित किया और युवा छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए बताया कि उद्योग- अकादमिक समामेलन ज्ञान निर्माण का चक्र कैसे शुरू होता है। श्री वैभव डांगे, सदस्य, बोर्ड ऑफ गवर्नर्स,
भारतीय प्रबंध संस्थान नागपुर, ने छात्रों को अपने संबोधन में उनके लिए उद्योग-संस्थान संवाद के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने अपना भाषण समाप्त करते हुए कहा, "इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहाँ से आए हैं, सबसे ज्यादा मायने रखता है कि आप कहाँ जाना चाहते हैं।"

नेतृत्व सत्र में टीवीएस मोटर कंपनी, भारत के संयुक्त प्रबंध निदेशक श्री सुदर्शन वेणु ने बदलती तकनीक, उपभोक्ता के व्यवहार तथा उभरते कारोबारी मॉडल के बारे में चर्चा की। उन्होंने परिवर्तन को अपनाने और "कैन-डू" स्पिरिट के महत्व को समझाया।

सीईओ सत्र में ई कोष फाइनेंस के संस्थापक एवं अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक श्री अमित सक्सेना ने सामाजिक संवहनीयता के बारे में चर्चा की तथा इस बारे में भी बात की कि कैसे कॉरपोरेट उद्देश्यों को इसके अनुरूप ढलना चाहिए। इसके पश्चात, एचटीसी स्पोर्ट्स प्रा. लि. के सीईओ श्री ईश आनंद ने सलाह दी कि आज की तेजी
से बदलती दुनिया में समय के अनुरूप ढलना तथा सुसंगत बने रहना बेहद आवश्यक है। उन्होंने कहा कि संवहनीयता के लिए वित्तीय व्यवहार्यता बेहद जरूरी है।

सम्मेलन एक प्रश्नोत्तर सत्र के साथ समाप्त हुआ, जिसमें छात्रों ने कुछ दिलचस्प प्रश्न पूछे, जिन्हें अतिथियों ने सराहा और उनके उत्तर दिए। इल्यूम 4.0 ने छात्रों के समक्ष वर्तमान उद्योग परिदृश्यों के एक्सपोज़र रखे और उनके सीखने के अनुभव को समृद्ध किया।